पहली बार संयुक्त राष्ट्र के हॉल में गूंजा 'ओम शांति, शांति ओम'

...

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर भारत के साथ ही कई देशों में योग कार्यक्रम आयोजन हुए पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) का हॉल भी ''ओम शांति, शांति ओम'' से गूंज उठा। पांच साल में पहली बार है, जब UNGA के हॉल में योग का आयोजन हुआ। मालूम हो, 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन के दौरान ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाए जाने का प्रस्ताव दिया था। प्रस्ताव स्वीकार हुआ और 2015 से पूरी दुनिया हर साल योग दिवस मना रही है।

इस साल योग कार्यक्रम की थीम 'योगा फॉर क्लाइमेट एक्शन' थी। पहले संयुक्त राष्ट्र के नार्थ लॉन में आयोजन होना था, लेकिन बारिश के कारण स्थान बदलना पड़ा। UNGA के हॉल में कार्यक्रम की शुरुआत मोदी के वीडियो मैसेज के साथ हुई। इस मौके पर संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा, 'मुझे उम्मीद है कि योग से स्वच्छ, हरित और चिरस्थायी भविष्य की परिकल्पना सुदृढ़ होगी। जलवायु परिवर्तन इंसान के अस्तित्व के लिए संकट बन गया है। योग हमें ऐसी जीवनशैली अपनाने में मदद करेगा, जो पर्यावरण के लिहाज से सुरक्षित भी है।'

कार्यक्रम में संयुक्त राष्ट्र की उपमहासचिव अमीना मुहम्मद भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा, 'योग का सार ही संतुलन है। यह केवल हमारे अंदर नहीं, बल्कि मानवता और प्रकृति के साथ भी संतुलन बनाने में मदद करते है।'

Source:https://naidunia.jagran.com/world-international-yoga-day-2019-calibrated-across-the-word-3009209

Recent News


 2019-11-14


जानिए सबरीमाला मंदिर का पौराणिक इतिहास

भारत के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है...