News Details | Eternal Hindu

यूनेस्को ने जयपुर की चारदीवारी को विश्व धरोहर सूची में किया शामिल

...

गुलाबी शहर के नाम से मशहूर जयपुर की चारदीवारी (परकोटा) को यूनेस्को ने विश्व धरोहर सूची में शामिल किया है। शनिवार को अजरबैजान की राजधानी बाकू में हुई विश्व धरोहर समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। खास बात यह है कि 21 देशों में से 16 देशों ने इसके लिए भारत का समर्थन किया।

बताया जाता है कि विश्व धरोहर की सूची में शामिल होने के लिए नामांकन किए जाने के बाद यूनेस्को की अंतरराष्ट्रीय परिषद की टीम 2018 में निरीक्षण करने जयपुर आई थी। दिल्ली स्थित यूनेस्को कार्यालय की ओर से कहा गया है कि जयपुर की शहरी योजना प्राचीन हिन्दू, मुगल और समकालीन पश्चिमी महत्ता को प्रदर्शित करती है। ऐतिहासिक जयपुर शहर की स्थापना 1727 में राजा जयसिंह ने की थी। यह अपनी स्थापत्य कला के कारण पर्यटकों में आकर्षण का केंद्र है।

उल्लेखनीय है कि जयपुर के चारदीवारी इलाके को यूनेस्को की वर्ल्ड हैरिटेज सूची में शामिल करवाने लंबे समय से प्रयास किए जा रहे थे। देश और विदेश से राजस्थान घूमने आने वाले पर्यटकों के लिए जयपुर पहला डेस्टिनेशन होता है। यहां के ऐतिहासिक भवनों हवामहल, अल्बर्ट हॉल और सिटी पैलेस समेत चारदीवारी का इलाका पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण का केन्द्र होता है। नगर निगम जयपुर शहर के चारदीवारी इलाके के स्वरूप को बनाए रखने के लिए भी समय-समय पर नई पहल करता रहा है।

अब तक दुनिया के 1092 स्थल धरोहर सूची में शामिल
यूनेस्को की संस्था इंटरनेशनल काउंसिल ऑन मॉन्यूमेंट्स एंड साइट्स (ICOMOS) की सिफारिश पर किसी शहर या क्षेत्र को अनूठी विरासत के कारण विश्व धरोहर की सूची में जयपुर की चारदीवारी को शामिल किया जाता है। अब तक विश्व धरोहर सूची में 167 देशों के 1092 स्थानों को शामिल किया जा चुका है।


Source:https://m.dailyhunt.in/news/india/hindi/moon+breaking-epaper-moonbrk/yunesko+ne+jayapur+ki+charadivari+ko+vishv+dharohar+suchi+me+kiya+shamil-newsid-123921800

Recent News


 2019-08-08


अब गंगा नदी में नहीं बहाए जाएंगे मंदिरों के फूल

वाराणसी के काशी विश्वनाथ और अन्य मं...